Dark Mode

Vote / Poll

BJP और Congress के बीच क्या Rajasthan में Aam Aadmi Party अपनी जगह बना पाएगी ?

View Results
अब जनता कांग्रेस-भाजपा से परेशान हो चुकी है
30%
'आप' की वजह से कांग्रेस और भाजपा में चिंता है
9%
केजरीवाल राजस्थान में कामयाब नहीं हो पाएंगे
90%
राजस्थान में भी 'आप' की सरकार बननी चाहिए
70%
Total count : 138

Vote / Poll

डेगाना विधानसभा क्षेत्र से आप किसको भाजपा का जिताऊँ प्रत्याशी मानते है ?

अजय सिंह किलक
56%
शिव देशवाल
26%
अन्य
18%
Total count : 7524

Vote / Poll

कर्नाटक का मुख्यमंत्री किसे बनाया जा सकता है?

View Results
सिद्देरमैया
73%
डीके शिवकुमार
13%
मल्लिकार्जुन खड़गे
7%
बता नहीं सकते
7%
Total count : 15

Vote / Poll

फिल्मों के विवादित होने के क्या कारण हैं?

View Results
समुदाय विशेष को टारगेट करना
38%
राजनीतिक लाभ लेने के लिए
13%
फिल्मों को हिट करने के लिए
38%
कुछ बता नहीं सकते
13%
Total count : 8

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!

फर्जी कॉल वालों से हो जाए सावधान: पार्सल में ड्रग्स भेजने के नाम पर बुजुर्ग से ठगी, इतने लाख रुपये ऐंठे

फर्जी कॉल वालों से हो जाए सावधान: पार्सल में ड्रग्स भेजने के नाम पर बुजुर्ग से ठगी, इतने लाख रुपये ऐंठे
Neha Joshi
November 28, 2023

प्रसाद नगर में रहने वाले 73 साल के बुजुर्ग शिशिर मेहता के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। पीड़ित के पास फेडेक्स कूरियर का अधिकारी बनकर एक व्यक्ति ने कॉल किया। कहा गया कि उन्होंने ताइवान एक पार्सल भेजा है। उसमें छह अवैध पासपोर्ट, छह क्रेडिट कार्ड के अलावा 140 ग्राम बेहद संवेदनशील ड्रग्स हैं। उसे मुंबई एयरपोर्ट पर पकड़ लिया गया है।

 
 



पीड़ित के इंकार करने पर उनके तमाम असली दस्तावेजों का हवाला दिया गया। बाद में गिरफ्तारी का डर दिखाकर उनसे जांच के नाम पर 7.50 लाख रुपये वसूल लिये गए। ठगी का पता चलने पर मामले की शिकायत पुलिस से की गई। पुलिस ने धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। टेक्निकल सर्विलांस की मदद से जांच में जुटी है।

बैंक खातों की जांच का दिया झांसा :  आरोपियों ने खातों की जांच की बात की। पीड़ित ने अपने दोनों खातों की जानकारी उनको दे दी। कहा गया कि वह जांच करेंगे की रकम कहीं हवाला की तो नहीं है।  आरोपियों ने उनके पास दो लेटर भेजे, एक में सीबीआई द्वारा एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया व दूसरे में आरबीआई द्वारा खातों की जांच की बात की गई थी।

 


दो बार में किए 7.50 लाख रुपये ट्रांसफर : आरोपियों ने रुपयों की जांच के नाम पर बैंक भेजकर बुजुर्ग से दो अलग-अलग आरटीजीएस करा लिये। जांच के बाद 15 मिनट में रुपये वापस आने की बात की गई। रुपये भेजने के बाद बुजुर्ग बेहद परेशान हालत में घर पहुंचे और उन्होंने अपना फोन बंद कर दिया। 

 

 

मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल होने की बात कहकर डराया
पीड़ित शिशिर मेहता ने बताया कि आठ नवंबर 2023 को उनके मोबाइल पर कॉल आई। अवैध पार्सल भेजने और उसके पकड़े जाने की बात कर पहले मुंबई क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर प्रकाश कुमार से बात करवाई। उसने मामला गंभीर बताकर कहा कि उनको डीसीपी से बात करना होगी। इसके बाद खुद को मुंबई क्राइम ब्रांच का डीसीपी बनकर एक व्यक्ति ने बुजुर्ग से बात की। वह हिन्दी-अंग्रेजी दोनों में उनसे बात कर रहा था। उसने बताया कि उनके आधार से चार बैंक खाते लिंक हैं। इन खातों का संबंध मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री से है। पूछा आपका मंत्री से क्या संबंध है।
 

 

कूरियर कंपनी ने जारी की एडवाइजरी
कूरियर कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर एक एडवाइजरी जारी कर लोगों से कहा कि वह किसी भी बैंक की जानकारी या निजी जानकारी नहीं मांगते। यदि आपके पास कंपनी के नाम से कोई कॉल या मैसेज आए तो फौरन इसकी शिकायत करें। इसके साथ किसी लिंक पर क्लिक न करें। आईवीआर पर दिए गए ऑप्शन पर भी बात न करें।

 

यह बरतें सावधानी ताकि न हो ठगी
कूरियर पार्सल के नाम से कॉल आए तो नजर अंदाज करें।
-  फोन उठा भी लें तो किसी ऑप्शन पर बटन न दबाएं।
-   कोई निजी जानकारी किसी को भी उपलब्ध न कराएं।
-  किसी भी अंजान लिंक पर क्लिक न करें।
-  ठगी होने पर नजदीकी साइबर पुलिस स्टेशन या 1930 पर शिकायत दें।
-  ऑनलाइन www.cybercrime.gov.in पर शिकायत दें।
फर्जी कॉल वालों से हो जाए सावधान: पार्सल में ड्रग्स भेजने के नाम पर बुजुर्ग से ठगी, इतने लाख रुपये ऐंठे

You May Also Like